Breaking News

3 महीने से लंबित वेतन की मांग को लेकर आगरा छावनी के कर्मचारियों ने घेरा छावनी कार्यालय

3 महीने से लंबित वेतन की मांग को लेकर आगरा छावनी के कर्मचारियों ने घेरा छावनी कार्यालय

विगत 3 महीने से लंबित वेतन की मांग को लेकर के आगरा छावनी के ठेके के सफाई कर्मचारी 4 दिन से काम बंद हड़ताल पर थे। कर्मचारी लगातार धरना देकर के अपनी मांगों को आगरा छावनी के अधिकारियों तक पहुंचाने की बात कर रहे थे लेकिन आगरा छावनी के कर्मचारी की मांगों को आगरा छावनी के अधिकारियों द्वारा लगातार अनसुना किया जा रहा था इसको लेकर के आज कर्मचारियों का धैर्य जवाब दे गया ।
बड़ी संख्या में आगरा छावनी के सफाई कर्मचारी उत्तर प्रदेश नगर निगम जल कर विभाग कर्मचारी संघ के बैनर तले आगरा के सदर बाजार में एकत्रित हुए और वहां से थाली और ताली बजाते हुए जुलूस निकालकर के आगरा छावनी कार्यालय पहुंचे ।

लंबे समय तक कर्मचारियों के द्वारा सीईओ कंटोनमेंट बोर्ड के कार्यालय के सामने बैठने के बावजूद भी जिओ को मांगपत्र सौंपने की मांग करने पर सी ईओ के ना आने पर सीईओ के व्यवहार ने कर्मचारियों के गुस्से में और आग में घी डालने का काम कर दिया।

सीईओ आगरा छावनी के व्यवहार से कर्मचारी कितने उत्तेजित हो गए कि ,उन्होंने उनकी मांगे नहीं माने जाने तक सी ई ओ कार्यालय का घेराव करें रखने की घोषणा कर दी,।

कर्मचारियों द्वारा सी ई ओ कार्यालय के घेराव की खुशियों से आगरा छावनी के अधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई। आनन-फानन में सीईओ कंटोनमेंट बोर्ड ने सेना पुलिस और स्थानीय सदर थाना पुलिस को आगरा छावनी कार्यालय पर बुला लिया ,पुलिस के पहुंचने पर भी जब कर्मचारी अपनी मांगों पर अड़े रहे तो ,
सीईओ कैंटोनमेंट बोर्ड ने कर्मचारियों की मांगों को माने जाने और कर्मचारियों के लंबित वेतन सहित सभी मांगों पर अपनी सहमति लिखित में व्यक्त कर दी।
जिसके बाद ही कर्मचारियों ने कंटोनमेंट बोर्ड कार्यालय को छोड़ा।

कंटोनमेंट बोर्ड कार्यालय का घेराव करने वालों में उत्तर प्रदेश जलकल नगर निगम कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष सिकंदर वाल्मीकि विक्रम नलवंशी कुलदीप ब्रह्म सहित बड़ी संख्या में सफाई कर्मचारी मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *