Breaking News

गालीबाज श्रीकांत त्यागी को स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था यूपी सचिवालय का स्टिकर,पुलिस पूछताछ में श्रीकांत त्यागी ने किया दावा*

*गालीबाज श्रीकांत त्यागी को स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था यूपी सचिवालय का स्टिकर,पुलिस पूछताछ में श्रीकांत त्यागी ने किया दावा*

नोएडा। उत्तर प्रदेश के नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में एक महिला के साथ गाली-गलौज करने के मामले में भगोड़ा गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी को पुलिस ने मंगलवार को मेरठ में धरदबोचा।पुलिस पूछताछ में गालीबाज श्रीकांत त्यागी ने दावा किया है कि उसकी कार पर लगाने के लिए यूपी सचिवालय का स्टिकर स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था।

नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने मंगलवार शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पुलिस की 12 टीमों ने लगातार पीछा कर आरोपी को धर दबोचा।सीपी ने बताया कि एक सूचना के आधार पर नोएडा पुलिस ने त्यागी को मेरठ से तड़के गिरफ्तार किया।उसके साथ मौजूद चार अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

सीपी ने बताया कि श्रीकांत त्यागी के एक गाड़ी पर विधायक का स्टिकर लगा है।उसका कहना है कि यह स्टिकर उसे उसके पुराने राजनीतिक सहयोगी स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया था। हम इस जानकारी की पुष्टि कर रहे हैं।उसके ड्राइवर ने कार की नंबर प्लेट पर यूपी सरकार का चिन्ह पेंट कर दिया था।गैंगस्टर एक्ट के तहत जांच जारी है।

सीपी ने बताया कि घटना के बाद खुद को बचाने के लिए श्रीकांत त्यागी यूपी से बाहर भी भाग गया था,लेकिन पुलिस टीमें ह्यूमन इंटेलिजेंस, टेक्निकल सर्विलांस और अन्य माध्यमों से उसका पीछा करती रहीं और आज सुबह उसे मेरठ में पकड़ लिया गया। सीपी ने बताया कि श्रीकांत त्यागी से गहनता से पूछताछ की जा रही है, उसे फरार रहने के दौरान किस-किस ने शरण दी इस बात की भी जानकारी हासिल की जा रही है।

आपको बता दें कि पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गालीबाज भगोड़ा श्रीकांत त्यागी की चार गाड़ियों को सीज किया था। उनमें से एक फॉर्च्यूनर गाड़ी पर विधायक का स्टीकर लगा पाया गया था। वहीं एक अन्य गाड़ी की नंबर प्लेट पर यूपी सरकार का लोगो लगा हुआ था।इससे पहले नोएडा पुलिस ने त्यागी को भगोड़ा घोषित करते हुए उस पर 25 हजार रुपये के इनाम की भी घोषणा की थी, जिसके बाद त्यागी ने गौतमबुद्ध नगर जिले की एक अदालत में सरेंडर करने के लिए एक याचिका दायर की थी।गालीबाज श्रीकांत त्यागी खुद को भाजपा नेता बताता था,लेकिन महिला से गाली गलौज की घटना के बाद भाजपा ने पल्ला झाड़ते हुए उसे अपना कार्यकर्ता मानने से इनकार कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *